कानपुर अपहरण केस में योगी सरकार ने आईपीएस, डिप्टी एसपी सहित चार पुलिस अधिकारी को किया सस्पेंड

कानपुर अपहरण केस: लैब टेक्निशियन संजीत यादव के अपहरण के बाद हत्या के मामले में शासन ने कानपुर में तैनात आईपीएस अफसर अपर्णा गुप्ता, तत्कालीन सीओ मनोज गुप्ता, पूर्व एसओ थाना बर्रा रंजीत राय और चौकी इंचार्ज राजेश कुमार को सस्पेंड कर दिया है।

 

पुलिस के अनुसार अपहृत संजीत यादव की हत्या अपहरण के चौथे दिन कर दी गई थी।

 

एसएसपी दिनेश कुमार पी ने गुरुवार रात दो बजे इस पूरी घटना का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि पनकी निवासी कुलदीप पूरे मामले का मांस्टमाइंड था, जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्याकांड में शामिल कल्याणपुर की महिला और सचेंडी के दो युवक भी पकड़े गए हैं। अन्य फरार की तलाश में टीमें दबिश दे रही हैं।

 

Kanpur Sanjeet Kidnapping case
Kanpur Sanjeet Kidnapping case

29 जून को आरोपियों ने 30 लाख रुपए की फिरौती के लिए पहली बार परिजनों को फोन किया। आरोप है कि परिवार के जानकारी देने के बाद भी कानपुर पुलिस का रवैया ढुलमुल रहा। परिजनों के अनुसार 11 जुलाई तक अपहर्ताओं ने परिजनों को फिरौती के लिए 21 बार फोन किया।

 

संजीत यादव 22 जून की देर शाम से लापता था। दो दिन तक कोई सुराग न लगने पर परिजनों ने अपहरण की आशंका जताई थी। आरोप लगाया कि बेटी रुचि से शादी तोड़ने पर बर्रा विश्व बैंक कॉलोनी निवासी राहुल यादव ने बेटे का अपहरण कर लिया। पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज करने के बाद आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ की, लेकिन कोई जानकारी नहीं मिली।

 

संजीत के परिजनों ने कानपुर पुलिस निगरानी में 13 जुलाई को फिरौती के 30 लाख रुपए गुजैनी पुल से फेंककर आरोपियों को दिए थे।परिजनों के अनुसार आरोपी रकम लेकर फरार हो गए और पुलिस हाथ पर हाथ धरे देखती रही। मामला तूल पकड़ने पर अगले दिन कानपुर के एसएसपी ने इंस्पेक्टर रणजीत राय को निलंबित कर दिया और सर्विलांस सेल के प्रभारी हरमीत सिंह को बर्रा थाने का चार्ज दिया।

 

एसएसपी ने सर्विलांस, स्वॉट, क्राइम ब्रांच को मामले के खुलासे के लिए लगाया था। गुरुवार को दिनभर हत्या और चार अपहृताओं की गिरफ्तारी की जानकारी पुलिस छिपाए रही। सोशल मीडिया पर तूल पकड़ने के बाद देर रात दो बजे एसएसपी ने खुलासा किया।

 

एसएसपी के अनुसार संजीत के साथ काम करने वाले पनकी निवासी कुलदीप ने ही अपहरण की पूरी साजिश रची थी। कुलदीप के साथ कल्याणपुर की महिला सहित सात लोग शामिल थे। कुलदीप, महिला और सचेंडी के अन्य दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस की पूछताछ में आरोपितों ने खुलासा किया कि 26 जून को ही संजीत की हत्याकर शव पांडु नदी में फेंक दिया था।

Previous post यूपी का वो फर्जी एनकाउंटर जिसमें पुलिस ने पुलिस अधिकारी को ही मार डाला
Next post विकास दुबे की पत्नी ने कहा कि मैं खुद उसे गोली मार देती

One thought on “कानपुर अपहरण केस में योगी सरकार ने आईपीएस, डिप्टी एसपी सहित चार पुलिस अधिकारी को किया सस्पेंड

Leave a Reply

Social profiles